साहिबबाद औद्योगिक क्षेत्र के उत्पादन में 50 फीसदी गिरावट
21/11/2016
NationalDuniya

नोटबंदी के बाद से साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र की फैक्टरियों के उत्पादन में 50 फीसदी की गिरावट आ गई है। यहां से करीब एक लाख कर्मचारी अवकाश लेकर घर चले गए हैं, इससे उत्पादन घट गया है। साथ ही उत्पादन के लिए फैक्टरियों में कच्चा मॉल भी नहीं पहुंच रहा है।

साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र साइट-4 में करीब 1100फैक्टरियां बनी हैं, मगर यहां पर करीब 850 फैक्टरियां में उत्पादन होता हैं। इसमें कैमिकल, इलेक्ट्रोनिक उपकरण, साइकिल, कूलिंग टॉवर आदि का उत्पादन होता है। यहां पर करीब दो लाख 25 हजार कर्मचारी फैक्टरी में काम करते हैं।

केन्द्र सरकार ने 8 नवंबर से 1000 और 500 के नोट को बंद किया था। इससे फैक्टरी के कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल सका है। वहीं जिनका खातों में पहुंच गया है, उनका निकल नहीं सका है। साहिबाबाद इंडस्ट्री एसोसिएशन के उपाध्यक्ष विपिन अग्रवाल ने बताया कि कर्मियों के घर चले जाने से फैक्टरियों में उत्पादन 50 फीसदी घट गया है। ये लोग बैंकों में करंसी बदलने में लगे हैं।

इतने का होता है कारोबार
उपाध्यक्ष विपिन अग्रवाल ने बताया कि साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र में रोजाना करीब 300 करोड़ रुपए का उत्पादन होता है, मगर कर्मियों और कच्चा मॉल नहीं मिलने से 150 करोड़ रुपए का उत्पादन हो रहा है।

बैंक में नहीं हो रहा काम
वरिष्ठ उपाध्यक्ष संजय अग्रवाल ने बताया कि फैक्टिरियों मालिकों का बैंकों में काम नहीं हो रहा है। बैंकों में आरटीजीएस, चेक और एनईएफटी के लिए शाम तक लाइन में लगना होता है। इससे फैक्टिरी मालिकों को भी परेशानी हो रही है। इसके लिए प्रशासन से मुलाकात की जाएगी। साथ ही बैंकों में उद्यमियों के लिए अलग काउंटर की मांग की जाएगी।

 
Comment
Comment:
Email ID:
Posted By :
Location:
     
 
अन्य खबरें