BJP का BSP पर पलटवार, 'मोदी के नोटबंदी के कदम से परेशान हैं मायावती
7/12/2016
NationalDuniya

नई दिल्ली:बीजेपी ने बीएसपी अध्यक्ष मायावती पर पलटवार करते हुए मंगलवार कोकहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर उनका हमला राजनीतिक रूप से प्रेरित था क्योंकि वह नोटबंदी से कालेधन पर उनके प्रहार से परेशान थीं जिसने उनकी पार्टी की अवैध धनराशि को बेकार कर दिया. बीजेपी ने मायावती पर दलितों और गरीबों के नाम पर राजनीति करते हुए भ्रष्टाचार का आरोप लगाया. बीजेपी ने दावा किया कि मायावती दलितों और गरीबों के कल्याण के उद्देश्य वाली मोदी की नीतियों से हताश हैं.बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा, प्रधानमंत्री ने जिस दिन सत्ता संभाली उसी दिन घोषणा की थी कि उनकी सरकार गरीबों के कल्याण को समर्पित होगी. उनकी सरकार की प्रत्येक योजना, चाहे वह मुद्रा योजना हो, जीवन और स्वास्थ्य बीमा योजना हो या उज्ज्वला योजना हो, इसी दिशा में निर्देशित हैं.उन्होंने कहा, जिन लोगों ने दलितों और गरीबों के नाम पर धनराशि जुटायी है, वे मोदी की कल्याण वाली नीतियों से हताश और परेशान हैं. उनके द्वारा भ्रष्ट तरीकों से एकत्रित पूरी धनराशि बेकार हो गई है. उनके खिलाफ उनके आरोप राजनीतिक रूप से प्रेरित और आधारहीन हैं. हम उसे खारिज करते हैं. दलितों पर अत्याचार के 30000 मामलों के अलावा हत्या के 11000 केस दर्ज श्रीकांत शर्मा ने दावा किया कि नोटबंदी निर्णय ने नौकरशाह राजनेताओं के गठजोड़ पर चोट की है जिसने गरीबों को दशकों तक लूटा है. उन्होंने समुदाय के लिए काम करने के मायावती के दावे पर सवाल उठाते हुए दावा किया कि मायावती सरकार के शासन के दौरान दलितों पर अत्याचार के 30000 मामलों के अलावा हत्या के 11000 मामले दर्ज हुए.शर्मा ने बीजेपी के दलित समर्थक तथ्यों को मजबूती प्रदान करने के लिए कहा कि दलित नेता बी आर अंबेडकर को भारत रत्न बीजेपी समर्थित राष्ट्रीय मोर्चा सरकार के दौरान दिया गया. वहीं मोदी सरकार ने उनसे संबंधित पांच स्थानों को विकसित किया है. उन्होंने कहा, दूसरी ओर मायावती ने इन सालों के दौरान कांग्रेस का समर्थन किया, वह कांग्रेस ही थी जिसने अंबेडकर के लिए कुछ भी नहीं किया और चुनावों में उन्हें हराने के लिए भी काम किया.एसपी और बीएसपी से छुटकारा पाना चाहते हैं लोग श्रीकांत शर्मा ने दावा किया कि बीजेपी उत्तर प्रदेश में अगली सरकार बनाएगी क्योंकि लोग एसपी और बीएसपी से छुटकारा पाना चाहते हैं. दोनों ने ही अल्प विकास किया है.उन्हें उनकी पूर्ववर्ती सरकारों द्वारा किये गए कार्य लोगों को बताने चाहिए. मोदी सरकार जब 2019 के चुनाव में जाएगी तो अपने कार्यों का हिसाब देगी.मायावती ने मोदी पर उनकी टिप्पणी को लेकर निशाना साधते हुए कहा था कि उनके नोटबंदी निर्णय ने उन्हें छोड़कर देश के बहुसंख्यक लोगों को कंगाल कर दिया है. इससे चुनाव में बीजेपी चौथे नम्बर पर आएगी. बीजेपी पर हिंदुत्व की राजनीति करने के मायावती के आरोप को भी गलत बताया.

 
Comment
Comment:
Email ID:
Posted By :
Location:
     
 
अन्य खबरें