पुणे टेस्ट: करारी हार के बाद Indian cricket के लिए एक और 'शर्मनाक वजह'
1/3/2017
NationalDuniya

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड ने भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पुणे में पहले टेस्ट के लिये इस्तेमाल की गई पिच को खराब करार दिया है।

ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच तीन दिनों के अंदर 333 रन से जीत लिया। मैच तीसरे दिन ही चायकाल के कुछ समय बाद समाप्त हो गया। भारतीय टीम दोनों पारियों में 105 और 107 रन बना सकी। भारत का मैच में कुल 212 रन का योग ऐसे किसी घरेलू टेस्ट में सबसे कम योग है जिसमें उसने सभी 20 विकेट गंवाये हैं। स्पिनरों ने मैच में गिरे 40 रिपीट 40 विकेटों में 31 विकेट झटके।श्रीराम का खुलासा, क्या हुआ था पहले दिन लंच के समय कि ओकीफ.आईसीसी की पिच और मैदान निगरानी प्रक्रिया के अनुसार पिच को तब खराब करार दिया जाता है जब:

  • पिच में मैच के दौरान अत्यधिक सीम मूवमेंट दिखाई देता है।
  • मैच में किसी दौरान किसी गेंदबाज को पिच से अत्यधिक असामान्य उछाल मिलता है।
  • पिच से स्पिन गेंदबाजों को जबरदस्त मदद मिलती है। खासतौर पर मैच की शुरुआत में।
  • पिच में बहुत कम या बिल्कुल ही सीम मूवमेंट नहीं दिखाई देता है या फिर कोई टर्न नहीं होता है जिससे गेंदबाज बल्ले और गेंद के बीच बराबरी के मुकाबले से वंचित रह जाते हैं।

आईसीसी के मुख्य कार्यकारियों की समिति ने इस महीने के शुरू में फैसला किया था कि उन स्थलों को सख्ती से दंडित किया जाये जहां खराब स्तर की पिचें रखी जाती हैं। इस फैसले का आईसीसी बोर्ड ने भी समर्थन किया था1 इस प्रक्रिया के तहत स्थल को अयोग्य अंक दिये जायेंगे। इस प्रस्ताव को जून में आईसीसी के वार्षिक सम्मेलन में मंजूरी मिलेगी जिसके बाद यह नियम लागू हो जायेगा।

 
Comment
Comment:
Email ID:
Posted By :
Location:
     
 
अन्य खबरें